यह काढ़ा रोज पियें और कोरोना वायरस से बचें -Immunity Booster

यह काढ़ा रोज पियें और कोरोना वायरस से बचें -Immunity Booster आयुष मंत्रालय

दोस्तों पूरी दुनिया को अपनी चपेट में लेने वाले इस कोरोना वायरस से रोज हजारों  की तादाद में लोगों की मृत्यु हो रही है और लाखों  लोग इन्फेक्टेड हो रहे हैं। इस Covid-19 ने infecteed होने की एक ही वजह सामने आयी है और वो है Immunity Power का Low होना। 

दोस्तों आजकल के खाने में ऐसे ऐसे मिलावट आ रही है जो लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर  रही है,लोगों की क्षमता को कम करती जा रही है। लोगों में प्रतिरोधक क्षमता को कम करती जा रही है ,गलत खान पान ,गलत दिनचर्या के कारन लोग अक्सर बिमारियों से घिरे ही रहते हैं। 

तो ऐसे में अब सवाल यह आता है कि आखिर कैसे हम अपनी इस immunity पावर को बढ़ाएं और corona जैसी खतरनाक जानलेवा बिमारियों से बच सकें। जैसा की आप सभी जानते हैं कि भारत सरकार के आयुष मंत्रालय के द्वारा बताये गए पेय में कोरोना से बचने के  लिए काढ़ा का उपयोग बताया गया है। जिससे आप इस खतरनाक virus से बच सकते हैं। 

तो आज के इस आर्टिकल में हम जानेगे कि वो कोण सा काढ़ा है और कैसे इसे घर पर बनाया जा सकता है और इसेक क्या क्या फायदे हैं:

दोस्तों यह बात हमेशा याद रखें की कभी भी ठंडा पानी  पीने में उपयोग न करें , गुनगना पानी  ही पीने में उपयोग करें। 

दोस्तों इस काढ़े से आप अपनी प्रतिरोध क्षमता को बढ़ा सकते हैं और स्वयं को सुरक्षित रख सकते हैं। इस काढ़ा की पीने की अपील भी सभी देशवासियों से हमारे प्रधानमंत्री ने भी की है। इस काढ़ा से आप अपनी और अपने  परीवार की भी कोरोना से सुरक्षा कर सकते हैं :

काढ़ा बनाने की विधि :

सामग्री :
700 ML पानी 
4 लॉन्ग 
8 काली मिर्च 
2 इंच दालचीनी 
8-10 तुलसी के पत्ते 
2 इंच अदरक (किसा हुआ )
1/2 चमच्च हल्दी पाउडर 
2 हरी इलाइची 
2 बड़े चम्मच गुड़  
यह काढ़ा सामग्री ऑनलाइन घर बैठे मगांएं

परिवार के चार सदस्य के लिए काढ़ा : 

उसके लिए सबसे पहले एक पेन में स्टील के तीन गिलास पानी लेंगे लगभग 700 ml पानी आप ले सकते हैं। 

गैस बर्नर को medium  कर दें। उसेक बाद इसमें डाल दीजिये आप एक डाल चीनी का टुकड़ा। दालचीनी को आप तोड़कर छोटे छोटे पीस में डालें। दालचीनी immunity Booster  होता है और यह सर्दी खांसी होने से भी बचाता है। 

और यदि किसी को सर्दी खांसी हो भी गया है तो यह काढ़ा पीते पीते ठीक हो जायेगा। यह काढ़ा पीने से हर परेशानी दूर जाएगी और आप स्वास्थ्य और फिट रहेंगे। 

 उसके बाद आपको इस पानी में चार लॉन्ग डालनी है ,यह भी इम्युनिटी को बढ़ाता है और सर्दी खांसी में  काफी लाभकारी होता है। यह काढ़ा आपको एक कप चाय की तरह से सिप सिप करते हुए पीना है। सुबह शाम पियेंगे तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा होगा।

अब इस पानी में आपको 2 हरी इलाइची डालना है ,इलाइची को आप  कूट कर पते सहित भी डाल सकते हैं या फिर आप इसे ऐसे ही खोलकर भी ड़ाल सकते हैं। 

उसके अब आपको इस पानी में एक छोटा तेज़ पत्ता डालना है और उसेक बाद आपको इसमें पानी के हिसाब से 6 -7 काली मिर्च डालना है। ध्यान रहे काली मिर्च को कूट कर ही पानी में डालना है, पाउडर को नहीं डालना है। क्योंकि इसे आप छोटे बच्चे को भी दे सकते हैं। क्योंकि यह उनके गलेमें नहीं लगेगा। 

इसके बाद इसमें 2 चम्मच गुड़ डालें यदि आप इसमें गुड़ नहीं डालना चाहते हैं तो आप इसमें काला नमक भी दाल सकते हैं अपने स्वदानुसार।

इसके बाद आप इसमें 2 इंच अदरक  डालेंगे। अदरक एक को कद्दूकस करके डालना होगा। हर कोई जानता है कि अदरक से इम्युनिटी बढ़ती है और सर्दी खांसी में बहुत ही लाभकारी होता है। यह काढ़ा आप 1 साल से ऊपर के बच्चे को 2 -3 चमच्च दे सकते हैं लेकिन शिशु को यह काढ़ा नही पिलाना है। 

अब इस पानी में आप कच्ची हल्दी को आधा इंच कद्दूकस करके डालेंगे और यदि आपके पास कच्ची हल्दी नहीं है तो एक चम्मच पीसी हुई हल्दी दाल सकते हैं। क्योंकि हल्दी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है और हल्दी antibiotic भी होता है। 

दोस्तों इस बारिश के मौसम में हर जगह का तापमान कम ज़्यादा अलग  अलग होता है इसलिए आप इस काढ़े को नीयमित जरूर पीएं और सर्दी खांसी ,जुकाम,बुखार  के साथ साथ यह सिर  दर्द,सिर  का भारी  होना  भी को खत्म करता है। अपने बच्चों को भी बचा कर रखें इसलिए इस काढ़े को अपने पुरे परिवार सहित नियनित सेवन करें क्योकि यह गले के हर विकार को दूर करता है। 

इसलिए ऊपर जो भी सामग्री बतायीं हैं मेने इस काढ़ा बनाने के लिए वो अवश्य ही डालनी है और साथ ही तुलसी पत्ता डालना भी  नहीं भूलना है। आप इस काढ़े में 6 -10  तुलसी के पत्ते मिला सकते हैं। तुलसी खांसी सर्दी  के लिए तो बहुत ही जरुरी होता है और काढ़ा  इसके बिना तो अधूरा सा ही है। इसकी  खुशबु और गुण दोनों ही बहुत ही अच्छे होते हैं। 

यदि दोस्तों आपको बहुत ज़्यादा खासी है तो एक छोटी चमम्च अजवाईन भी डाल सकते हैं। यह बहुत ही गुणकारी होता है और इसके कोई साइड इफ्फेक्ट भी नही होते हैं यह आपकी खांसी को खत्म कर देगा। 

यह काढ़ा आयुष मंत्रालय भारत सरकार द्वारा बताया गया है जो आपको आपकी इम्युनिटी बढ़ाने में बहुत ही सहयक होगा। यह काढ़ा बहुत तेज़ी से इम्युनिटी बढ़ाता है। कृपया यह बात भी मन में मत पलियेगा कि यह काढ़ा शरीर में गर्मी बढ़ा देगा। यह आपकी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़एगा जो की आजकल बेहद जरुरी है। क्योंकि जितनी अच्छी आपकी प्रतिरोधक क्षमता होगी उतने ही आप सुरक्षित और स्वस्थ्य होंगे। 

यदि आपको अपने गले में खरास है या गले में दर्द है तो आप steam या भाप भी ले सकते हैं इस  काढ़े का , बाज़ार में बहुत से ऐसे भाप लेने के उपकरण आते हैं जो आपको इस काढ़े की भाप लेने में मदद करते हैं। यदि आपको नहीं मिलता है तो में इसकी लिंक भी यहां दे दूंगा जिससे आप उसे आसानी से ले सकें और उसका उपयोग कर सकें। खरीदें Steamer Cum Vaporizer    

क्योकि  काढ़े की सिकाई से आपके गले की हर प्रॉब्लम दूर हो सकती है। जैसा की आप  सभी ने यह देखा या सुना ही टीवी पर विज्ञापनों में या अन्य जगह की गले की सिकाई करते रहें।

काढ़े को 5 मिनट के बाद उबाल आने पर धीमी आंच पर इसे स्टील की थाली  या प्लेट से धक् देना है 10 मिनट के लिए। इस काढ़े काअच्छा अर्क बनने के लिए इसका लगभग एक कप पानी छनकना होगा जिससे इसमे इस्तेमाल हर पत्ते का अर्क इस काढ़े में मिल जाए। 

10 मिनट के बाद गैस को बंद कर दें। उसके बाद इसे गैस स्टोव से उतार लें। उतारने के बाद  भी आप चाहे तो इस  भाप को ले सकते हैं। अब इसे किसी भी पात्र में छान सकते हैं। यदि आप इस काढ़ें में शहद का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो छानने के बाद इसमें शहद भी मिला सकते हैं। 

2 साल के बच्चे को भी आप चार चम्मच यह काढ़ा पिला  सकते हैं। इस प्रकार से यह काढ़ा अपने पुरे परिवार को पिला सकते हैं और सबको स्वस्थ्य रख सकते हैं।इस काढ़ा के स्वाद से आप अपनी चाय भी भूल सकते हैं। यदि आप दूध की चाय बनाना चाहते हैं तो बचे हुए स सामग्री से आप दूध  की मसाला चाय बना सकते हैं जो वाकई बहुत ही बेहतरीन स्वाद में होगी। 

तो इस काढ़े को गर्मागर्म पियें और ध्यान रहे इस काढ़े को चाय की तरह ही सिप सिप करके ही पीना है जिससे ज़्यादा से ज़्यादा लाभ हो और आप स्वस्थ्य हों एवं इस corona महामारी से बचे रहें , सुरक्षित रहें। दोस्तों जब बहुत ही जरुरी काम हो तभी बहार जाएँ अपनी साफ सफाई का ख्याल रखें पब्लिक में लोगों से दुरी बना कर रहें और नियमित इस काढ़े का सेवन करते रहें। 

दोस्तों आशा करता हूँ कि यह स्वास्थ्य सम्बन्धी लेख बहुत ही लाभकारी होगा और पसंद भी आया होगा। इसको अपने मित्रों और रिश्तेदारों तक जरूर इसे पुहंचायें और इसी तरह केस्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी पाने के लिए नियमित मेरे इस ब्लॉग पर visit करना न भूलें।myhindimind.com   

 

इम्यून पावर कैसे बढ़ाए ? HOW TO BOOST YOUR IMMUNE SYSTEM NATURALLY

स्वास्थ्य एक स्थायी संपत्ति होती है , जिसे हमें हमेशा के लिए स्वीकार करना  चाहिए। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपके पास कितना पैसा है, अगर कुछ भी मायने रखता है, तो यह आपका स्वास्थ्य है और आप कितने मजबूत हैं। संभव है कि आप अच्छा खाना खाएं लेकिन आप बहुत जल्दी बीमार हो जाते हैं। यह आमतौर पर मामला है कि आप जिस बच्चे की देखभाल करते हैं, वह आसानी से बीमार हो जाता है। दरअसल, आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली न केवल आपके भोजन पर निर्भर है, बल्कि कई अन्य कारक भी इसके लिए जिम्मेदार हैं। हमने  नीचे उन सभी चीजों पर विस्तार से चर्चा की है, आप इसे पढ़ें और इसका पालन भी अवश्य करें और मुझे यकीन है कि यह निश्चित रूप से आपकी मदद करेगी IMMUNE SYSTEM बढ़ाने में ।

बैसे  तो हमारे बाजार में कई प्रकार के भोज्य पदार्थ  उपलब्ध हैं, जिनमें से कई आपकी स्वाद  के लिए अच्छे हैं और कई आपके पेट के लिए। इसी तरह, कुछ खाद्य पदार्थ आपकी IMMUNE SYSTEM को बढ़ाने के लिए भी होते हैं। ये न केवल आपकी IMMUNE SYSTEM को ही बढ़ाते हैं बल्कि आपको अंदर से  STRONG  भी बनाते हैं।

Good foods increase immunity instantly (Best Foods That Increase / Strengthen Your Immunity Power Quickly)

1. पालक (Spinach) का सेवन करें

बैसे तो यह एक हरी और पत्तेदार सब्जी ही होती है लेकिन जिसमें बहुत सारे विटामिन और खनिज भी पाए जाते हैं। यह आयरन से भरपूर होता है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा होता है और यह हमें एनीमिया से भी बचाता है। यही नहीं , इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और बीटा कैरोटीन हमारे शरीर को STRONG बनाता है और किसी भी प्रकार की बीमारी से लड़ने में सक्षम बनाता है। विटामिन ए और सी, एंटीऑक्सिडेंट, और फोलेट की उपस्थिति में, यह हमारी IMMUNE SYSTEM को अच्छे से STRONG करने में मदद  करता है। जो आपको किसी भी मौसमी इन्फेक्शन और अन्य दूसरी प्रकार की बीमारियों से दूर रखता है।
 
कैसे खाना चाहिए ?
 
  • पालक खाने का सबसे अच्छा इफेक्टिव तरीका है कि आप इसे सलाद के रूप में लें या इसका सूप पियें ।
  • जैसा कि हम सभी जानते हैं कि किसी भी चीज का अधिक सेवन करना हमारे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है, इसलिए हमें पालक का भी एक दिन में केवल एक छोटे कप बराबर पालक का ही सेवन करना चाहिए, वरना इससे आपके पेट में पथरी, पेट दर्द आदि भी होने की संभावना रहती है। 
 

2. खट्टे फलों (Citrus Fruits) का सेवन करें

 
खट्टे फल विटामिन सी के अच्छे स्रोत होते हैं और यह आपको अवांछित बैक्टीरिया से बचाता है और आपके शरीर में अच्छे बैक्टीरिया की भी क्षमता को बढ़ाता है। खट्टे फल आपके सफेद रक्त कोशिकाओं और हमारी IMMUNE SYSTEM के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करते हैं।
 
खट्टे फल विटामिन सी में बहुत अधिक होते हैं और पानी में घुलनशील विटामिन होते हैं, इसलिए हमें अपने दैनिक फलों में खट्टे फलों को शामिल करना चाहिए। विटामिन सी न केवल हमारी श्वेत रक्त कोशिकाओं को बनाता है बल्कि यह उनकी सेवा भी करता है। जैसा कि यह मुख्य रूप से हमारी प्रतिरक्षा को बढ़ाने के लिए काम करता है।
 
कैसे खाना चाहिए ?
 
  • विटामिन सी पानी में घुलनशील होता है, इसलिए इसे आप कितनी भी मात्रा में ले सकते है। अगर आप एक दिन में 2 संतरे भी  खाते हैं तब भी आप हमेशा सुरक्षित रह सकेंगे ।

3. गेहूँ (Wheat) का सेवन करें

गेहूं फाइबर का एक भुहत ही अच्छा स्रोत है, और यही नहीं  इसमें अच्छी मात्रा में जिन्क, विटामिन, प्रोटीन और कई अन्य खनिज भी पाए जाते हैं। जब यह आपके शरीर में ठीक से मौजूद होता है, तो यह आपकी आंतों से अवांछित सामग्री को बाहर निकालने में बहुत  मदद करता है। जो शरीर को एक बहुत अच्छा स्वास्थ्य और IMMUNE SYSTEM प्रदान करता है।
 
कैसे खाना चाहिए?
 
  • भारत में गेहुँ मुख्य भोजन के रूप में प्रयुक्त होता है ,जिसे  रोटी,चपाती  ब्रेड आदि के रूप में खाते हैं। 

4. ब्रोकली (Broccoli) का सेवन करें

जब भी आप Google पर IMMUNE  बूस्टर खाने के बारे में सर्च  करते हैं, तो ब्रोकली इसके  पौष्टिक गुणों के कारण सबसे पहले आता है। ऐसा क्यों है? इसमें एक उचित मात्रा में बीटा कैरोटीन, पोटेशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम, विटामिन सी, बी (बी 1, बी 2, बी 3, और बी 6), एंटीऑक्सिडेंट आदि की अच्छी मात्रा पायी जाती  है। और  साथ ही, ब्रोकोली में सबसे अच्छा IMMUNE BOOSTER  पाए जाते हैं। इसलिए, अपने भोजन  में ब्रोकोली को शामिल अवश्य करना चाहिए ।
 
कैसे खाना चाहिए?
 
सर्वोत्तम परिणामों के लिए, आपको सलाद के रूप में ब्रोकोली का उपयोग करना चाहिए।
ब्रोकोली पकाने के लिए स्ट्रीमिंग सबसे अच्छा तरीका है, यह अपने पोषक तत्वों को नहीं खोता है।

5 . लहसुन (Garlic) का सेवन करें

लहसुन स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी होता है ,यह हर मर की दवा है  क्योंकि लहसुन में एलिसिन मौजूद होता है जिसके कारन इसका स्वाद और गंध तीखी होती है। लहसुन में सल्फर के गुण पाये जाने की वजह से कई औषधियों में इसका उपयोग भी किया जाता है। यह बहुत सी बिमारियों से रक्षा करता है ,और उनसे लड़ने में मदद करता है -जैसे लहसुन गुर्दे की बीमारियों, सामान्य सर्दी, हृदय रोग, कैंसर एवं मानसिक स्वास्थ्य आदि ।
 
कैसे खाना चाहिए?
 
  • यदि आप सुबह सुबह लहसुन की दो कलियों का सेवन हर सुबह करते हैं तो आपको इसके अच्छे परिणाम ले सकते हैं ।

6 . अदरक (Ginger) का सेवन करें

अदरक एक ऐसी चीज है जिसमें  विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सिडेंट, पैरासोल, एंटी-इंफ्लेमेटरी के रूप में सुपर पावर पायी जाती है। जो कि वास्तव में सुपर IMMUNE BOOSTER होता है ,यही नहीं  ये सभी गुण हमारे स्वास्थ्य को अच्छा रखने में बहुत ही सहायक होते हैं  और कई बीमारियों से दूर रखने में भी मदद करता है।
 
अदरक में अच्छी प्रतिरक्षा होने से, आप इसको सामान्य सर्दी, खांसी, मौसमी बुखार और अन्य सामान्य बीमारियों में इसका इस्तेमाल कर करके इनसे बच सकते हैं ।
 
इन सबके अलावा खाने में आप हरी सब्जियों का ज़्यादा से ज़्यादा इस्तेमाल करें और बादाम ,काजू किसमिस ,नट्स व अन्य फलों का भी उपयोग करके IMMUNE SYSTEM को BOOST कर सकते हैं। 
 

खुद को हाइड्रेट करके (Hydrate Yourself) IMMUNE SYSTEM BOOST करें

बरसात के दिन हों या कड़ाके की ठंड , आपको हर समय हाइड्रेटेड रहने की जरूरत होती  है। हाइड्रेट शरीर  आपको कई बीमारियों से दूर रखता है। हमारे शरीर में 60 प्रतिशत पानी होता है, वहीं  हमारे रक्त में लगभग 90 प्रतिशत पानी होता है। यह चीज दर्शाती है कि हमारे शरीर में पानी का कितना महत्व है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि पानी में ऑक्सीजन होता है जो हमारे शरीर की सभी cell को सही तरीके से काम करने में मदद करता है। शरीर में प्रॉपर ऑक्सीज फ्लो होने से शरीर में IMMUNE SYSTEM अच्छा होता है और शरीर हर प्रकार की बीमारियॉं से सुरक्षित रहता है। 
 
  • खुद को हाइड्रेट रखने के लिए आप पानी के अलावा सूप, नींबु पानी, जूस इत्यादि के रूप में भी अन्य पेय पदार्थ ले सकते है।
  • यदि आप पानी  पीने के सही तरीके को जानते हैं और उसी प्रकार पीते हैं तो निश्चित ही आप कभी Dehydrate नहीं हो सकते।  

वर्कआउट भी IMMUNE शक्ति बढ़ाने के लिए जरुरी है (Best Workout to Enhance Immune Power)

सिर्फ अच्छी डाइट लेने से ही अच्छा स्वास्थ्य नहीं हो जाता है इसके साथ साथ आपको workout ,excercise , yoga ,medtiation आदि भी उतना ही आवश्यकहै जितना कि भोजन करना। जो की हमारे शरीर की immune power को बढ़ाता है और शरीर को स्वास्थ्य रखता है। 

1. योगा (Yoga) करें

सबसे पहले बात करते हैं योग की जैसे कि आप सभी जानते ही होंगे कि आज की डेट में योग दुनिया के तमाम  लोगों की  दिनचर्या में शामिल होता जा रहा है। क्योकि यह आपको शरीर को स्वास्थ्य ही नहीं रखता है बल्कि यह अनेक प्रकार की बिमारियों से रक्षा भी करता है। 
 
योग में हम विभिन्न प्राणायाम और आसनों का उपयोग करते हैं। जिसकी एक निश्चित ही विधि और नियम भी होते हैं। इनको पालन करते हुए योग करना चाहिए वरना लाभ की जगह हानि भी हो जाती है। जब आप कोई भी योग आसान को विधि पूर्वक करते हैं तब निश्चय ही इसका रामबाण लाभ मिलता है बड़ी से बड़ी आसाध्य बीमारी से छुटकारा पा जाते हैं। तो योग को अपने दिनचर्या अवश्य  शामिल  करें  लेकिन  इसकी शुरुआत किसी trainer के साथ ही करना चाहिए। 

2. ध्यान (Meditation) करें

योग करने के बाद ध्यान या meditation करना चाहिए यह आपके शरीर को अंदर से स्वास्थ्य तो रखता ही है साथ ही आपके मन और बुद्धि को भी स्वास्थ्य रखता है। बसे ध्यान योगा की ही एक शाखा है, जिसके द्वारा हम अपनी श्वसन  प्रणाली और आन्तरिक विचारों पर धयान केन्द्रित करते हैं। ध्यान केंद्रित करने से आप मन के सारे विषाक्त को शरीर से बहार निकालते हैं और मन को शुद्ध करते हैं। क्योंकि शारीरक स्वास्थ्य से ज़्यादा तो मानसिक स्वस्थ्य होना अति आवश्यक हैक्योंकि यदि वयक्ति मानसिक रूप से स्वास्थ्य नहीं होगा तो वह शारीरक स्वास्थ्य का लाभ नहीं ले पायेगा। यह आपको नकारात्मक विचार से निजात दिलाता है तथा सकारात्मक विचार से भर देता है इसलिए नित्य ध्यान अवश्य करना चाहिए। जो आपको शारीरक स्वास्थ्य के साथ साथ आपकी प्रतिरोधक क्षमता भी बढाता है। 

3. शारीरिक वर्कआउट (Physical Activities)

Gym जाओ या होम excercise करो ,परन्तु शरीर को किसी न किसी Activities में शामिल करें। शरीर को फिट करने के लिए वर्कआउट भी जरुरी है। यदि आप सुबह सुबह योगा एंड ध्यान करने के बाद अपनी बॉडी को किसी भी वर्क में use नहीं करते हैं तो आप अपने शरीर को अन्य रिस्क में शामिल करते हैं। क्योकि शरीर में अनावश्यक चर्बी या फैट जमा होने लगती है जो की स्वाथ्य की दृष्टि से ठीक नहीं है। यह आपकी प्रतिरोधक क्षमता को बरकारकर रखने में सहायक होती है। इसमें आप स्पोर्ट भी शामिल कर सकते हैं जो आउटडोर या इनडोर भी हो सकते हैं। 

प्रतिरोधक क्षमता के लिए उचित आराम करें (Take Proper Rest)

प्रॉपर रेस्ट या आराम करना भी अत्यत आवश्यक है। जब हम दिनचर्या में ऊपर की बताई हुई चीजे प्रयोग में लाते हैं। तब हमें अच्छे आराम की बहुत ही जरूरत है। जो आपके शरीर को  स्वास्थ्य रखने के में सहायक होती है। साथ ही यह प्रतिरोधक क्षमता भी बढाती है।  
 
जब आप सही तरीके से आराम करते हैं , तो  आपके शरीर में सही metabolism होती है। इससे शरीर को अच्छी मात्रा में ऊर्जा भी मिलती है, जिससे आपका शरीर भी स्वास्थ्य रहता है।  जो आपकी  IMMUNE SYSTEM को बेहतर बनाए रखता है।

कुछ अन्य उपाय जो आपकी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाएंगे (Some Easy Tricks to Boost your Immunity Power in Body Naturally at Home)

  • यह ध्यान रखें कि आपको आसानी से पचने वाला भोजन ही करना चाहिए। कड़वे खट्टे और दाहकारक आदि भोजन नहीं करना जो पचने में आसान नहीं होते और शरीर में देर तक रहते हैं । क्योंकि यह एक ही सप्ताह में ये हमारे शरीर को नुकसान पहुंचा सकते हैं और हमारे शरीर में कई प्रकार की परेशानीओं का कारण बन सकते हैं।  
  • नशीले पदार्थ जेसे -शराब, धुम्रपान एवं अन्य बुरी आदतों से सदैव दूर रहना चाहिए। यह हमेशा शरीर के लिए खतरा होती हैं। 
  • जितना हो सके उतना शाकाहारी बनने की कोशिश करिये क्योंकि शाकाहरी लोग कम संक्रमित पाए जाते हैं मांसाहारियों की अपेक्षा। शाकाहारियों की  IMMUNE POWER भी काफी अच्छी होती है। जिससे वो कम संक्रमित होते हैं साथ ही वो गंभीर बिमारियों से बचे रहते हैं। 
 
तो आशा करते हैं कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और यदि इसको फॉलो  करेंगे तो अवश्य ही आपकी इम्यून सिस्टम boost होगा वो भी naturally ,जैसा की आप सभी जानते हैं कि देश ही नहीं पूरी दुनिया खतरनाक महामारी कोरोना से जंग लड़ रहा है ,जिसमें जो लोग शाकाहारी हैं ,योग करते हैं ,व्यायाम करते हैं ,व्यसन नहीं करते हैं ,समय से उठते हैं समय से सोते हैं-वो लोग जिनका अच्छा इम्यून सिस्टम है उनको इस प्रकार की बीमारी छू भी नहीं सकती है। यदि  बिमारियों से बचना है तो इन उपाय को अपनाएं और अपना इम्यून पावर बढ़ाएं। स्वास्थ्य रहें ,सुरक्षित रहें। 

World Yoga day 21 june- 2020 How Can We Celebrate?

My Life- My Yoga,माई लाइफ - माई योगा' Video Blogging प्रतियोगिता

सरकार ने कहा है,सीओवीआईडी -19 महामारी के मद्देनजर, इस वर्ष का अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मनाया जाएगा और कोई सामूहिक समारोह नहीं होगा ।
 
इस साल की थीम ‘Yoga at home and with family योगा एट होम एंड योगा विद फैमिली’ होगी। लोग 21 जून को सुबह 7 बजे योग दिवस समारोह में शामिल हो सकेंगे।
 
अधिकारियों ने कहा कि विदेशों में भारतीय मिशन डिजिटल माध्यमों के साथ-साथ योग का समर्थन करने वाले संस्थानों के नेटवर्क तक लोगों तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं।
 
आयुष मंत्रालय ने पहले लेह में एक भव्य कार्यक्रम आयोजित करने की योजना बनाई थी, जिसे महामारी के कारण रद्द करना पड़ा था।
 
इसके अलावा, ‘My Life- My Yoga,माई लाइफ – माई योगा’ वीडियो ब्लॉगिंग प्रतियोगिता के माध्यम से, जिसे 31 मई को प्रधान मंत्री द्वारा लॉन्च किया गया था, आयुष मंत्रालय और ICCR ने योग के बारे में जागरूकता बढ़ाने और लोगों को इसके लिए तैयार होने और सक्रिय भागीदार बनने के लिए प्रेरित किया। 
 

योग दिवस 2020 के अंतर्राष्ट्रीय दिवस का अवलोकन

यह प्रतियोगिता दो चरणों में चलेगी – पहला जिसमें एक अंतर्राष्ट्रीय वीडियो ब्लॉगिंग प्रतियोगिता होगी, जिसमें विजेताओं को एक देश के भीतर चुना जाएगा। इसके बाद वैश्विक पुरस्कार विजेताओं का चयन किया जाएगा जिन्हें विभिन्न देशों से चुना जाएगा।
 
प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए प्रतिभागियों को 3 योगिक अभ्यासों (क्रिया, आसन, प्राणायाम, बंध या मुद्रा) का तीन मिनट का वीडियो अपलोड करना आवश्यक है, जिसमें एक लघु वीडियो संदेश / विवरण शामिल है कि कैसे उक्त योग प्रथाओं ने उनके जीवन को प्रभावित किया।
 
आयुष सचिव, वैद्य राजेश कोटेचा ने कहा , वे इसे किसी भी भाषा में कर सकते हैं, ।कोटेचा ने आगे कहा-
तीन श्रेणियों के तहत प्रतिभागियों द्वारा प्रविष्टियां प्रस्तुत की जा सकती हैं – युवा (18 वर्ष से कम आयु के पुरुष और महिला), वयस्क (18 वर्ष से अधिक पुरुष और महिला) और योग पेशेवर।यह सभी में कुल छह श्रेणियां बनाता है।
 
भारत के प्रतियोगियों के लिए, 1 लाख, 50K और 25K रुपये के पुरस्कार प्रत्येक श्रेणी के भीतर 1, 2 और 3 पदों के लिए दिए जाएंगे।
 
विदेश भारतीय मिशन प्रत्येक देश में पुरस्कार देंगे। वैश्विक स्तर पर, ट्रॉफी और प्रमाण पत्र के साथ USD 2,500, USD 1,500 और USD 1,000 के नकद पुरस्कार पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर रहने वालों को दिए जाएंगे।
 
डॉ विनय सहस्रबुद्धे, राष्ट्रपति भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद, ने कहा Video Blogging प्रतियोगिता हमें भारी मात्रा में प्रशंसापत्र प्रदान करेगी जो हमें योग के बारे में बात करने में मदद करेगी और इसके समग्र लाभ न केवल स्वास्थ्य के लिहाज से बल्कि मानव जीवन के दृष्टिकोण के प्रति भी मदद करेगी ।
 
उन्होंने कहा, “यह योग के कई पहलुओं को भी सामने लाएगा। योग केवल एक शारीरिक गतिविधि नहीं है, इसका शारीरिक और भावनात्मक स्वास्थ्य के साथ भी संबंध है और लोग अपने द्वारा अनुभव किए गए लाभों को साझा करेंगे।”
 
वीडियो को फेसबुक, ट्विटर या इंस्टाग्राम पर प्रतियोगिता हैशटैग #MyLifeMyYogaINDIA और उपयुक्त श्रेणी हैशटैग के साथ अपलोड किया जा सकता है।
 
 
श्री कोटेचा ने आगे बताया कि 2 लाख से अधिक लोगों ने अब तक ‘संजीवनी’ मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड किया है, जो 7 मई को आयुष अधिवक्ताओं की स्वीकृति और उपयोग और जनसंख्या के बीच उपायों और Covid-19 सीओवीआईडी ​​-19 की रोकथाम में इसके प्रभाव को उत्पन्न करने के लिए लॉन्च किया गया था।

International Yoga Day – June 21, 2020 अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

International Yoga Day – June 21, 2020 अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

 

दोस्तों, जैसा कि  आप सभी जानते हैं कि  International Yoga Day  21 जून को मनाया जाता है, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस  physical and spiritual prowess का Celebration है जिसे योग के रूप में  विश्व स्तर  पर मनाया जाता  है। जबकि यह व्यायाम और healthy  activity का एक महत्वपूर्ण source है, लाखों लोग दैनिक आधार पर इसमें शामिल होते हैं और अभ्यास करते हैं। कई लोगों के लिए, यह वो दिनचर्या है जो  शरीर, मन और आत्मा को जोड़ने का एक तरीका है जो सदियों से भारत की धरती पर हमेशा से मौजूद है।

 
 

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का इतिहास HISTORY OF INTERNATIONAL YOGA DAY

 
 
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लिए, दुनिया भर के लोग अपनी योगा मैट निकालने के लिए अब तैयार हैं और व्यायाम शुरू कर रहे हैं, लेकिन उन में से शायद ही कुछ लोगों को इस बात की जानकारी होगी कि योग सदियों से चला आ रहा है यह कोई आज की रिसर्च नहीं है।
 
 
योग को एक प्राचीन प्रथा के रूप में माना जाता है जिसकी उत्पत्ति भारत में 5,000 साल पहले हुई थी। योग को मन, शरीर और आत्मा को आत्मज्ञान में एक साथ करीब लाने के लिए एक नियम  के रूप में विकसित किया गया था। जो धीरे धीरे लोगों के अभ्यास में आने लगा और आत्मज्ञानी लोग इसे अपनी दैनिकचर्या के रूप में शामिल करने लगे। जैसे ही यह अभ्यास पश्चिम में लोकप्रिय हो गया, यह एक व्यायाम और विश्राम विधि के रूप में लोकप्रिय हो गया, जिसमें शरीर की सामान्य सुरक्षा , शारीरिक चोटों , शारीरिक बिमारियों और पुराने दर्द को कम करने में मदद करने के लिए भी इसका अधिक मात्रा में प्रचार होने लगा।
 
 

दोस्तों अब जानते हैं योग दिवस कैसे शुरू हुआ

 
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का विचार पहली बार 27 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण के दौरान हमारे देश के माननीय प्रिय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा प्रस्तावित किया गया था, जबकि 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में स्थापित करने का संकल्प भारत के राजदूत, असोक कुमार मुखर्जी द्वारा पेश किया गया था।
 
 
 
दोस्तों 21 जून की तारीख को इसलिए चुना गया क्योंकि यह Summer Solstice है, मतलब यह वो दिन होता है , जिस दिन वर्ष के हर दूसरे दिन सबसे अधिक सूर्य निकलता है। कुल मिलाकर, इस दिवस को 177 देशों से समर्थन मिला। किसी भी संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव के लिए यह अब तक का सबसे अधिक co-sponsors माना जाता है। इस प्रकार से 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में घोषित किया गया।
 
 
यह भारत के लिए सबसे बड़ी उपलब्धि मानी जाती है इससे पहले भारत की बहुत सी बातों को नाकारा जाता रहा है। और  दुनिया के बहुत से देश हमेशा मज़ाक के रूप में भारत की तमाम हिन्दू धार्मिक गतिविधियों मानते रहे हैं। लेकिन  अब ऐसा ऐसा नहीं है दुनिया के लोग भारत के योग , अध्यात्मज्ञान , रीतियां आदि को वैज्ञानिक आधार पर उन्हें सत्य मानने लगा है, और यही नहीं दोस्तों आप लोगों ने देखा होगा कि लोग सहज इसे अपना भी रहे हैं। अभी इस महामारी के कारण  ,भारत के रिवाज- रीती आदि की तो और भी खूब सराहना हुई है और भारत की संस्कृति पर गर्व भी कर रहे हैं।
 
 
 
दुनिया के पहले अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून, 2015 को मनाया गया।  जिसमें प्रधान मंत्री मोदी, और दुनिया भर के कई अन्य हाई-प्रोफाइल राजनीतिक हस्तियों सहित लगभग 36,000 लोगों ने नई दिल्ली में 35 मिनट के लिए 21 आसन (योग आसन) किए और इसी के साथ इस दिन से  दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून से मनाया जाने लगा ।
 

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस  के महत्वपूर्ण  पल

 
 
21 जून 2018
सभी के लिए योग
100,000 से अधिक प्रतिभागियों के साथ भारत में सबसे बड़ा योग रिकॉर्ड बना
 
 
 
21 जून 2015
पहली बार
36,000 से अधिक भारत में पहली बार सामूहिक योग दिवस मनाया  गया ।
 
 
 
27 सितंबर 2014
भारत ने UNO में  प्रस्ताव रखा
नरेंद्र मोदी और भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस बनाने का प्रस्ताव रखा
 
 
 
200 ई.पू.
अभ्यास निरंतर जारी है
योग के अस्तित्व के लिए शुरुआती रिपोर्ट इस युग के आसपास निर्धारित की जाती हैं।
 
 

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पूछे जाने वाले प्रश्न / INTERNATIONAL YOGA DAY FAQS

 
 

How can I begin to practice yoga?मैं योग का अभ्यास कैसे शुरू कर सकता हूं?

 
दोस्तों योग शुरू करने का कोई कठिन तरीका नहीं है। आजकल बहुत मात्रा में छोटे बड़े योग संस्थान ,केंद्र , कॉलेज व विश्वविद्यालय मौजूद हैं जिन्हे आप अपने नज़दीकी जगह पर सर्च करके योग अभ्यास शुरू कर सकते हैं। आप योग स्टूडियो या स्थानीय जिम भी  खोज  सकते हैं जहां पर योग प्रशिक्षक योग सिखाते हैं ,या फिर आप वीडियो ट्यूटोरियल का सहारा लेकर भी  घर पर अभ्यास कर सकते हैं।
 

What does Om mean? ओम का क्या अर्थ है?

 
ओम को ब्रह्मांड की ध्वनि का  मूल मन्त्र कहा जाता है, इस शब्द में ही अखिल ब्रह्माण्ड ब्याख्या छुपी हुई है । यह योग Class के lession  में  समाहित करने  का एक सरल  तरीका है, लेकिन यह अनिवार्य नहीं है।
 

What kind of equipment do I need to practice yoga?योग का अभ्यास करने के लिए मुझे किस तरह के उपकरणों की आवश्यकता है?

 
सबसे महत्वपूर्ण उपकरण लचीला एथलेटिक कपड़े और एक योग चटाई हैं। latter आवश्यक नहीं है और यदि आप इसे किसी फिटनेस सेंटर से कर रहे हैं तो आप उनके अनुसार या उनसे भी इसके बारे में पूछ सकते हैं या फिर आप अपने फिटनेस सेंटर से उधार भी ले सकते हैं; आप अपने आराम के अनुसार ही चटाई – मोटी या पतली ले सकते हैं जिससे आप योगा –  अधिक आनंद के साथ कर सकते  हैं।
 
 

 अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की मुख्य गतिविधिं या नियम

 

1. प्रकृति से जुड़ने के  लिए स्वयं को Tree Pose में  लाएं

 
दोस्तों यदि आप बाहर अभ्यास करते हैं तो आपको शुद्ध हवा तो मिलेगी ही साथ ही आप प्रकृति से भी सीधे तौर पर जुड़ पायंगे।  जैसे समुद्र तट पर, अपने स्थानीय पार्क में, या अपने घर के पिछवाड़े में भी अभ्यास कर सकते हैं  । नए परिवेश में अपने आप को  नई चीजों पर ध्यान केंद्रित करने से बहुत अधिक ध्यान या मुद्रा आकर्षक हो सकती है योग अभ्यास के लिए।
 

2. स्वयं को  “ओम” के उच्चारण में समाहित करें

 
अंदर के movements  ॐ शब्द के साथ  अपना flow बनाएं और धीरे धीरे उसमें खो जाएँ। या फिर  अपने पसंदीदा संगीत के लिए नए combinations तैयार करें और उसके अनुसार स्वयं को केंद्रित करें। संगीत योग अभ्यास में शरीर के अंदर होने वाले movements को केंद्रित करने में बहुत हद तक मदद करता है।
 

3. योगी जीवन शैली के लिए एक योग मित्र जरूर बनायें

 
यदि आप किसी सहायक या फिर किसी एक दोस्त के साथ अभ्यास शुरू करते हैं तो यह आपको सीखने में बहुत ही आसान बना सकता  है , वह आपको मोटीवेट भी करता जाएगा । जिससे आप तेज़ी से योग में अभ्यास करना सीखते हैं एवंम  योग  की विभिन्न मुद्राओं  को भी आसानी से एन्जॉय करते हैं।
 

5 योग FACTS

 

1. अमेरिका के बहुत से लोग योग का अभ्यास करते हैं

 
लगभग 36 मिलियन अमेरिकी नियमित रूप से योग करने का दावा करते हैं, मतलब लगभग 10% आबादी
 

2. सभी के लिए एक

 
योग की सौ से अधिक शैलियाँ हैं।
 

3. एक बड़ा सोशल मीडिया हिट भी है

 
किसी भी समय इंस्टाग्राम पर 60 मिलियन पोस्ट ट्रेंड कर रहे हैं।
 

4. 1982 में योगा मैट का आविष्कार किया गया था

 
विदेशी महिला एंजेला किसान ने आरामदायक, स्लिप-फ्री सतह बनाने के लिए कारपेट अंडरले का इस्तेमाल किया था ।
 

5 . यह बहुत ही प्रेरणादायक है सभी के लिए

 
योग के साथ अपने अनुभवों से उत्साहित, एलिजाबेथ गिल्बर्ट को सर्वश्रेष्ठ-विक्रेता “Eat Pray Love” लिखने के लिए प्रेरित किया गया था
 
 

हम क्यों अंतरराष्ट्रीय योग दिवस से प्यार करते हैं?

 

यह inclusive है

 
दोस्तों यह सभी आयु वर्ग, धर्मों, राष्ट्रीयताओं और सामाजिक पृष्ठभूमि के लोग  भी सेलिब्रेट कर सकते हैं, क्योंकि योग सभी के लिए सुलभ है। योग प्रथाओं के बहुत सारे सरल प्रकार मौजूद हैं, इसलिए किसी के लिए भी शुरू करना संभव है,आसान है । आकार और फिटनेस का स्तरआदि जैसी चीजों से कोई फर्क नहीं पड़ता  है। आप अपने अनुसार इसमें संशोधन कर सकते हैं और अभ्यास कर सकते हैं।
 

योग आपके तनाव को manage  करने में मदद करता है

 
जीवन कभी-कभी तनावपूर्ण हो सकता है, और यह हमारे भौतिक शरीर पर अपना प्रभाव भी डाल सकता है। पीठ या गर्दन में दर्द, नींद की समस्या और सिरदर्द है? नियमित योगाभ्यास मानसिक स्पष्टता, शांति, और पुराने तनाव से छुटकारा दिलाता है – जिसका अर्थ है कि यह उपरोक्त सभी में आपकी सहायता करेगा, स्वस्थ्य और प्रसन्न रखेगा।
 

योग का अभ्यास स्वस्थ है

 
यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है, योग रीढ़ को मजबूत और स्थिर करता है, पीठ दर्द, तनाव, चिंता और तनाव से छुटकारा दिलाता है। यह वजन घटाने, संतुलित चयापचय को बनाए रखने और लचीलेपन को बढ़ाने में मदद करता है। और ये केवल इसके कुछ लाभों में से एक हैं क्योंकि इसके लाभों  को गिनना बहुत ही कठिन है ।
 
 
दोस्तों आशा करते हैं यह लेख आपको काफी  सपोर्ट करेगा योग  हेल्थ के लिए। दोस्तों क्या आप भी योग करते हैं यदि  हाँ तो वह योग मुद्रा कोन सी है और उसके क्या लाभ हैं हमें कमेंट करके जरूर बताएं।
 
 

FAQ

दोस्तों योग शुरू करने का कोई कठिन तरीका नहीं है। आजकल बहुत मात्रा में छोटे बड़े योग संस्थान ,केंद्र , कॉलेज व विश्वविद्यालय मौजूद हैं जिन्हे आप अपने नज़दीकी जगह पर सर्च करके योग अभ्यास शुरू कर सकते हैं। आप योग स्टूडियो या स्थानीय जिम भी खोज सकते हैं जहां पर योग प्रशिक्षक योग सिखाते हैं ,या फिर आप वीडियो ट्यूटोरियल का सहारा लेकर भी घर पर अभ्यास कर सकते हैं।

ओम को ब्रह्मांड की ध्वनि का मूल मन्त्र कहा जाता है, इस शब्द में ही अखिल ब्रह्माण्ड ब्याख्या छुपी हुई है । यह योग Class के Lession में समाहित करने का एक सरल तरीका है, लेकिन यह अनिवार्य नहीं है।

सबसे महत्वपूर्ण उपकरण लचीला एथलेटिक कपड़े और एक योग चटाई हैं। Latter आवश्यक नहीं है और यदि आप इसे किसी फिटनेस सेंटर से कर रहे हैं तो आप उनके अनुसार या उनसे भी इसके बारे में पूछ सकते हैं या फिर आप अपने फिटनेस सेंटर से उधार भी ले सकते हैं; आप अपने आराम के अनुसार ही चटाई – मोटी या पतली ले सकते हैं जिससे आप योगा – अधिक आनंद के साथ कर सकते हैं।

Naturally Boost Your Immune System

Naturally Boost Your Immune System प्राकृतिक तरीके से प्रतिरक्षा प्रणाली को कैसे बढ़ाएं

एक मजबूत immune system अच्छे स्वास्थ्य का संकेत है। और इसके लिए हमें इस बात पर ध्यान देने की आवश्यकता है कि हम क्या खाते हैं।

क्या आप जानते हैं कि खाद्य पदार्थों के अलावा, स्वस्थ आदतें, जैसे अच्छी नींद लेना, शारीरिक गतिविधियों का अभ्यास करना आदि हमारे शरीर को मजबूत बनाने के लिए बहुत आवश्यक हैं?

इसके बारे में सोचते हुए, हमने उन Foods Products की एक सूची बनाई। जिसके अनुसार आपको खाना चाहिए, यदि आप अपनी immune system में सुधार करना चाहते हैं, यदि आप हर दिन अपने आस-पास के वायरस और बैक्टीरिया के लिए अधिक immune system  बनाना चाहते हैं, तो आप उनसे लड़ना चाहते हैं जैसे आप कोरोना वायरस के खिलाफ चाहते हैं।

 Naturally Boost Your Immune System

इस सूची में एक मुख्य आइटम प्रोपोलिस है, तो क्या आपने कभी इसके बारे में सुना है?

शायद ऩही। यह एक छत्ते के कोट से प्राप्त होता है, प्रोपोलिस में एंटीसेप्टिक और सुरक्षात्मक गुण होते हैं।

इसके अलावा, प्रोपोलिस हाइव और मानव शरीर दोनों में अवांछनीय Microorganism के प्रसार को रोकता है।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसका सेवन रोजाना बूंदों या कैप्सूल में किया जा सकता है।

इस विकल्प के अलावा, EXperts  कुछ विटामिन और खनिजों के Consume  को बढ़ाने का भी सुझाव देते हैं।

प्रोपोलिस का उपयोग करने के अलावा, आप ingest  भी कर सकते हैं: –

विटामिन ए से जेड तक

आप मल्टीविटामिन को सीधे दवा आदि के अन्य रूप में भी उपयोग कर सकते हैं या आप इसे नीचे बताए तरीके से ले सकते हैं

अधिक लहसुन, प्याज, अदरक, और टमाटर खाएं

यह पूरी दुनिया में अपने सीजन में काफी मात्रा में पाया जाता है, हालांकि अब यह हर  मौसम में उपलब्ध हैं । भोजन का स्वाद बढ़ाने के अलावा, यह प्राकृतिक चिकित्सा में भी उपयोग किए जाते हैं और शरीर की immune system  को बढ़ाने में सहायक होते हैं। अर्थात , उन्हें भोजन में बहुत उपयोग किया जाना चाहिए। जिसके कारण आपकी रोगimmune system  बढ़ेगी और आप कोरोना जैसी महामारी से भी लड़ सकते हैं और जीत सकते हैं।

खट्टे फल और गहरे हरे रंग की सब्जियां / खट्टे फल और गहरे हरे रंग की सब्जियां

इन खाद्य पदार्थों में विटामिन सी होता है, जो immune system  को stimulating करके और ल्यूकोसाइट्स के पुनर्निर्माण का काम करता है, जो हमारे शरीर में infections से लड़ते हुए हमें Radical damage से होने वाले नुकसान से बचाता है। इसलिए उनका उपयोग भी अधिक मात्रा में करना चाहिए।

Protein, seeds, whole grains, legumes/प्रोटीन, बीज, साबुत अनाज, फलियां

प्रोटीन ऐसे Food Products  हैं जो जिंक से भरपूर होते हैं, वायरस, बैक्टीरिया और फंगस से बचाने के लिए एक आवश्यक Minearals हैं  ।

Oilseeds/तिलहन

क्योंकि वे अपनी संरचना में जस्ता भी हैं, नट्स, चेस्टनट और बादाम विटामिन ई और सेलेनियम में समृद्ध हैं, प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए महत्वपूर्ण पोषक तत्व और शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट भी हैं जो मुक्त कणों से लड़ने में मदद करते हैं, हमारे शरीर को ऑक्सीडेंट तनाव से निपटने में मदद करते हैं।

इनकी composition में ज़िंक पाया ही जाता है। नट्स, चेस्टनट और बादाम विटामिन ई और सेलेनियम में rich हैं। इसके nutrients immune system  के लिए अच्छे माने जाते हैं और इनमें  powerful antioxidants भी माने जाते हैं जो free radicals से लड़ने में help करते हैं साथ ही यह हमारे शरीर को  oxidant stress से निपटने में मदद करते हैं।

तो दोस्तों , आशा है आप लोगों को घर बैठे ही अपने immune system को strong करने के यह बेहतरीन घरेलू tips जरूर पसंद आये होंगे और इन्हें अपने खाने में आज से बढ़ा देंगे क्योंकि दोस्तों यदि हमारा immune system अच्छा है तो हम किसी भी उम्र में किसी भी बीमारी से लड़ सकते हैं और जीत भी सकते हैं।

दोस्तो जानकारी जरूर आपको पसंद आयी होगी तो like और शेयर भी करना और कमेंट करके भी बतायें  हमारा यह प्रयास कितना support करता है।